कॉलेज के खाते से जाली चेक के माध्यम से 28 लाख 65 हजार रूपये का धोखाधड़ी

सीतामढ़ी : एस॰एल॰के॰ कॉलेज सीतामढ़ी के खाते से जाली चेक के माध्यम से 28 लाख 65 हजार रूपये का धोखाधडी से निकाल लिया गया है. उक्त जानकारी कॉलेज के प्राचार्य ( प्रो॰) डॉ॰ अनील कुमार सिन्हा ने लिखित रूप से थाना में आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराया. प्रो॰ सिन्हा ने बताया कि उक्त जानकारी कॉलेज को दिनांक 20 जनवरी 2022 को साढ़े चार बजे हुई जब बैंक के कर्मचारी ने पटना बैंक ऑफ बरोदा के निर्देश पर चेक की संपुष्टि चाही देखने पर चेक जाली था. वरसर एवं प्राचार्य का हस्ताक्षर जाली पाई गई. उक्त नंबर का मूल चेक कॉलेज मे है.

जब उस खाता की पूर्ण जानकारी ली गई तो मालूम हुआ कि 7/01/22, 13/01/22 और 19/01/22 को जाली चेक नंबर 000190, 000191, 000192 के माध्यम से क्रमश: राशि 8,95,000, 9,80,000 और 9,90,000 भुगतान बैंक द्वारा बैंक ऑफ बरोदा के गैर- होम शाखा मे R.T.G.S. के मध्यम से भुगतान किया गया. चेक की पुस्टि के लिए बैंकर द्वारा एक लाख या उससे अधिक राशि का कंफरमेशन करने का नियम है अन्यथा चेक की पुष्टि होम ब्रांच मे करनी चाहिए थी.

सर्क्युलर के अनुसार नॉन होम R.T.G.S. प्रतिबंधित कर देना चाहिए था. प्रो॰ सिन्हा ने कहा कि इस धोखा धडी मे उच्च स्तरीय जालसाजी की गयी है जिसमे बैंक के अधिकारियों की भागीदारी स्पस्ट रूप से दर्शाती है. प्रो॰ सिन्हा ने कहा कि बैंक को उपरोक्त राशि अपनी गलती स्वीकार करते हुये शीघ्र कॉलेज के खाते मे स्थानांतरित करते हुए दोषी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कारवाई करने की मांग की है.

कालेज के बरसर प्रो० निखत फ़ातिमा,प्रो० सुजय कुमार ,प्रो० दीपक कुमार, प्रो० मृतुंजय कुमार , प्रो० राजीव रंजन,प्रो० आलोक यादव ,बड़ा बाबू नागेंद्र प्रसाद ,लेखपाल सुनील कुमार ,गौतम कुमार ,ई० अभिषेक रंजन,वीरू ,सौरभ श्रीवास्तव ,किसन ,उमेश ,प्रिन्स एवं गणेश यादव आदि प्रमुख थे.