खेती के गुर सिखने के उद्देश्य से सीतामढ़ी से 40 किसानों का जत्था बनारस हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी (यूपी) के लिए रवाना.

सीतामढी: कृषि विभाग आत्मा के सौजन्य से सब्जी उत्पादन करने वाले 40 किसानों की टीम प्रखंड तकनीकी प्रबंधक आर डी चौरसिया एवं सहायक तकनीकी प्रबंधक कृष्ण कुमार सिंह के नेतृत्व मैं वैज्ञानिक तरीके से सब्जी उत्पादन करना एवं जल संचयन के तौर तरीके को सीखने बीएचयू वाराणसी यूपी पांच दिवसीय राज्य के बाहर प्रशिक्षण सह परिभ्रमण कार्यक्रम अंतर्गत भेजा जा रहा है.

किसानों को लेकर जाने वाली बस को इंद्रजीत कुमार मंडल परियोजना निदेशक आत्मा, नीरज झा सहायक निदेशक उद्यान राज बहादुर सिंह सहायक निदेशक अभियंत्रण मुन्ना कुमार निषाद सहायक निदेशक पौधा संरक्षण ने संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

परियोजना निदेशक आत्मा सीतामढ़ी द्वारा बताया गया कि सीतामढ़ी में अधिकांश किसानों का रुझान सब्जी उत्पादन में है जिससे उनको धान गेहूं के अलावा ज्यादा मुनाफा हो रहा है ऐसे में सब्जी उत्पादकों को तकनीकी रूप से उनके कौशल विकास के लिए यह प्रोग्राम आज आयोजित किया जा रहा है इस प्रोग्राम में किसान बनारस में बीएचयू में रहकर पांच दिवसीय प्रशिक्षण में खेती-बाड़ी के नए नए तरीकों कृषि वैज्ञानिक एव तकनीकी विशेषज्ञों से सीखेंगे साथ ही वहा केंद्रीय कृषि सब्जी अनुसंधान केंद्र वाराणसी का भी भ्रमण कर नई-नई तकनीकों को जानेंगे और अपने जिला में सब्जी के उत्पादन में बढ़ोतरी कर जिले का नाम रोशन करेंगे.

मौके पर बीटीएम राजीव घर द्विवेदी लेखापाल मनोज कुमार किसान सुधीर कुमार, शैलेन्द्र महतो सौरव कुमार, रामचंद्र सिंह, रामजतन साह, वीरेंद्र सिंह, विनोद शाह, सुमन कुमार सहित जाने वाले सभी किसान मौजूद थे.

© सीतामढ़ी की आवाज | टीम