चावल अनुसंधान केंद्र कटक उड़ीसा के लिए प्रशिक्षण/परिभ्रमण हेतु किसानों की टीम रवाना.

सीतामढ़ी: कृषि विभाग आत्मा के सौजन्य से सीतामढ़ी जिला से 25 किसानों की एक टीम भारतीय चावल अनुसंधान केंद्र कटक उड़ीसा के लिए पांच दिवसीय प्रशिक्षण सह परिभ्रमण कार्यक्रम में भाग लेने हेतु प्रखंड तकनीकी प्रबंधक राजीव धर द्विवेदी के नेतृत्व में जा रही है. कार्यक्रम में भाग लेने वाले टीम को श्री इंद्रजीत कुमार मंडल परियोजना निदेशक आत्मा द्वारा हरी झंडी दिखाकर संयुक्त कृषि भवन मुरादपुर से रवाना किया गया.

श्री मंडल जी द्वारा बताया गया कि सीतामढ़ी जिला में धान की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है जिसमें किसानों को धान की खेती से संबंधित आधुनिक वैज्ञानिक तकनीकों तथा अनुसंधान द्वारा किए जा रहे हैं ।नए-नए प्रयोगों को सीखने के उद्देश्य से किसानों को भारतीय चावल अनुसंधान केंद्र में भेजा जा रहा है.

जहां कृषि वैज्ञानिकों व तकनीकी विशेषज्ञों से सीतामढ़ी जिले के किसानों को गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण मिल सके और वह उसका लाभ अपने प्रक्षेत्र पर उठाकर अपनी लागत को कम करते हुए चावल उत्पादन के क्षेत्र में जिले का नाम रोशन कर सकें। इस मौके पर लेखापाल मनोज कुमार बीटीएम आरडी चौरसिया, प्रगतिशील किसान भूपेंद्र नारायण सिंह राजकिशोर महतो रामनिवास सिंह, राम विनोद राउत, सहित प्रशिक्षण में जाने वाले सभी किसान मौजूद थे.