जिला प्रशासन पारम्परिक हिंदु त्योहारों में अनावश्यक भय का माहौल बनाने से बाज आएं : डा.मिथिलेश

सीतामढ़ी : नगर विधायक मिथिलेश कुमार ने कहा अपने संवैधानिक मूल्य-अधिकार,कर्तव्य एवं नैतिक परंपराओं के विधानों का आदरणीय ग्रंथ है। किसी भी वर्ग विशेष के लिये दोहरे मानदंड आदर्श स्थिति नही है। दुर्गा पूजा,सरस्वती पूजा,रामनवमी जैसे पवित्र परम्पराओं का निर्बाध प्रवाह प्रसाशन एवं समाज की जबाबदेह जिम्मेदारी है।

सरकारी निर्देशों का पालन करते हुये कैसे अपने दाइत्वों का निर्वहन कर समाज में सकारात्मक संदेश का प्रसार हो,यह प्रशाशनिक कुशलता के आयाम है। लोकतंत्र में तुगलकी फरमान अपने कर्तव्यों की कमी को अपारदर्शी होने से रोकने की छटपटाहट का प्रतिविम्ब है। लोकतंत्र में तुगलकी फरमान अपने कर्तव्यों की कमी को अपारदर्शी होने से रोकने की छटपटाहट का प्रतिविम्ब है।

प्रशासन गैर हिंदु त्योहारों में गिरफ्तारी से परहेज और हिंदु त्योहारों में गिरफ्तारी की अनिवार्यता से समाज को क्या संदेश प्रसारित करना चाहती है,यह स्पष्ट करना चाहिये।बहुसंख्यक समाज के लिये यह यक्ष प्रश्न है।आगामी सदन के सत्र में,मैं मजबूती से सदन के पटल पर जनहित में इस विषय पर चर्चा करूंगा.