ताड़ी के उत्पादन एवं बिक्री में पारंपरिक रूप से जुड़े परिवारों का होगा सर्वेक्षण : डीएम

सीतामढ़ी : डीएम के निर्देश के आलोक में उप विकास आयुक्त विनय कुमार की अध्यक्षता में  ताड़ी उत्पादन एवम बिक्री पारंपरिक रूप से जुड़े  परिवारों का सर्वेक्षण हेतु नोडल पदाधिकारियों का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम डुमरा  इंडोर स्टेडियम के सभा कक्ष में आयोजित किया गया.

गौरतलब हो कि ताड़ी उत्पादन एवं बिक्री में पारंपरिक रूप से जुड़े हुए परिवारों का सर्वेक्षण किया जाना है,ताकि चयनित परिवारों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुचाकर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत एवम स्वालंबी बनाया जा सके।यह कार्य शहरी क्षेत्र एवं ग्रामीण क्षेत्र में 15 फरवरी तक पूर्ण कर लिया जाना है.

निर्धारित प्रपत्र में इसका सर्वेक्षण हेतु पंचायत स्तर पर 3 सदस्य टीम का गठन किया गया है जिसमें चौकीदार, विकास मित्र, एवं जीविका के कैडर को शामिल किया गया है,तथा शहरी क्षेत्र के प्रत्येक वार्ड के लिए भी तीन सदस्य संरक्षण दल (एएन यूए एल एम) कर्मी, आंगनबाड़ी सेविका एवं विकास मित्र को शामिल किया गया है. उक्त सर्वेक्षण को संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं नगर क्षेत्र के कार्यपालक पदाधिकारी अपने नेतृत्व में पूर्ण कराना सुनिश्चित करेंगे.

सभी प्रखंडों एवं नगर क्षेत्रों के सघन मॉनिटरिंग हेतु जिला पदाधिकारी के निर्देश के अलोज में नोडल पदाधिकारी नियुक्त किए गए हैं, जिनका प्रशिक्षण आज  सम्पन्न हुआ। तत्पश्चात सभी सर्वेक्षण दलों को संबंधित प्रखंड एवं शहरी क्षेत्रों में जीविका के बीपीएम के सहयोग से प्रशिक्षित किया जाएगा उक्त सर्वेक्षण का रिपोर्ट जिला स्तरीय समिति के माध्यम से 20 फरवरी तक कार्यपालक पदाधिकारी बिहार को भेजी जाएगी.

उसके पश्चात चयनित परिवारों को उनके विभिन्न सरकारी कल्याणकारी योजनाओं से अहर्ता अनुरूप समृद्ध एवम आर्थिक रूप से स्वालंबन किया जाएगा. उक्त प्रशिक्षण में उत्पाद अधीक्षक प्रदीप कुमार, डीएसपी हेड क्वार्टर श्री राम कृष्ण कुमार, समाज कल्याण पदाधिकारी सतीश कुमार जयसवाल, डीपीएम जीविका एवं सभी प्रखंडों के नामित नोडल पदाधिकारी उपस्थित थे.