ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक शब्द कहना मांझी को पड़ सकता है भारी, 5 साल तक की होगी जेल

बिहार : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी इन दिनों अपने आपत्तिजनक बयान बाजी के चलते सुर्खियों में बने हुए हैं. लगातार हिंदुओं के आस्था के खिलाफ ध्यान देना मांझी को पड़ सकता है भारी, 5 साल तक की हो सकती है जेल.

फाइल फोटो

कभी भगवान राम को काल्पनिक तो कभी सतनारायण भगवान और ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक शब्द कह कर जीतन राम मांझी चर्चा में बने रहना चाहते हैं लेकिन इस बार उनके खिलाफ कोर्ट में चार कंप्लेन दर्ज किया गया है. 24 दिसंबर यानी कल सुनवाई होनी है पटना हाई कोर्ट के वकील द्विवेदी सुरेंद्र ने बताया कि ऐसे मामले में 2 साल से लेकर 5 साल तक की जेल हो सकती है.

वकील के अनुसार मांझी ने खास जाति पर आपत्तिजनक बयान दिया है जो समाज में जातीय उन्माद और विद्वेष फैलाने का कारक बन सकते हैं वह दिखाना चाहते हैं कि ब्राह्मण समाज का आज के समय में कोई अस्तित्व नहीं है जिस तरह का बयान माझी ने दिया है उनके खिलाफ कंप्लेंट दर्ज किए गए हैं और उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ सकता है.

© सीतामढ़ी की आवाज | टीम