वगैर पैसे लिए नहीं होता है दाखिल खारिज, बिचौलिए के मिलीभगत से लाखों रूपए की उगाही

नानपुर/सीतामढ़ी : प्रखंड मुख्यालय स्थित अंचल कार्यालय में प्रमुख प्रतिनिधि अनुपम कुमार बमबम के नेतृत्व में पंचायत समिति सदस्यों ने घरना प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में शामिल लोग अंचलाधिकारी के खिलाफ नारेबाजी की तथा डीएम से बर्खास्त करने की मांग की. प्रमुख प्रतिनिधि अनुपम कुमार बमबम ने बताया कि नानपुर अंचल में पुरी तरह से भ्रष्टाचार छाया हुआ है तथा बिचौलिए के मिलीभगत से लाखों रूपए की उगाही की जाती है.

इन्होंने कहा कि दाखिल खारिज वगैर पैसे लिए नहीं किया जाता है कहा कि क्षेत्र से लोगों को अंचल में कोई भी कार्य कराने के लिए मोटी रकम लुटाना पड़ता है,तब काम होता है वरना नहीं होता है. इन्होंने कहा कि अंचल के बिचौलियों के पास कोई भी नौकरी या बिजनेस नहीं है परन्तु करोड़ों की प्रोपर्टी के मालिक है और विभिन्न शहरों में अपने नाम से जमीन खरीद लिया है.

इन्होंने कहा कि अंचल में कभी भी कोई कर्मी समय से नहीं आते है और अंचलाधिकारी हमेशा गायब रहते है. वहीं उप प्रमुख मो मोज्जमिल ने कहा कि ऐसे सरकार,अफसर व कर्मी को लोगों के कार्य करने के लिए रखा है. परन्तु हाकिम लोगों की सुनती कहां है, उन्हें पैसे मिलता है तब काम होता है इन्होंने ऐसे लापरवाह कर्मी को हटाने की मांग की.

वही सीओ आलोक कुमार ने पूछे जाने पर बताया कि मेरे ऊपर लगाया गया आरोप राजनीति से प्रेरित और निराधार है. मौके पर पंचायत समिति सदस्य विल्टू सहनी, कमलेश कुशवाहा, जमशैद कुरैशी, मो नाजिम, रामवृक्ष सहनी, विनय कुमार यादव, उमाशंकर राय, संतोष पासवान सहित अन्य मौजूद थे.