विश्व की 15 प्रतिशत आबादी दिव्यांग,आत्म निर्भर होकर कोयला को भी हीरा बना सकते है : डॉ राजेश

सीतामढ़ी : दिव्यांगता में कार्य कर रही संस्था आरोग्या फाउंडेशन फॉर हेल्थ प्रमोशन एवं कम्युनिटी बेस्ड रिहैबिलिटेशन एवं लायंस क्लब सीतामढ़ी यूथ के तत्वावधान में विश्व दिव्यांगता दिवस के अवसर पर डुमरा रोड स्थित दिव्यांगन केंद्र पर राष्ट्रीय न्यास, भारत सरकार की निरामया स्वास्थ्य वीमा योजना एवं आरपीडब्लूडी एक्ट 2016 ,नेशनल ट्रस्ट एक्ट विषयक पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

आरोग्या के सचिव सह फिजियो चिकित्सक डॉ राजेश कुमार सुमन ने पॉवर पॉइंट की मदद से उपस्थित दिव्यांगो व् उनके परिजनों की आर पी डब्लू डी एक्ट एवं निरामया वीमा के बारे में बिस्तृत जानकारी दी,डॉ ने बताया की हमें दिव्यांगो के प्रति संवेदना का परिचय देते हुए हमारा महत्वपूर्ण लक्ष्य दिव्यांगो की अक्षमता के मुद्दे की और लोगो की जागरूकता और समझ को बढ़ाना है.

समाज में उनके आत्म सम्मान ,लोक कल्याण और सुरक्षा की प्राप्ति के लिय दिव्यांगो की मदद करना ,साथ ही इनके अतिरिक्त जीवन के सभी पहलुओ में दिव्यांगो के सभी मुद्दों को बताना व् समाज में उनकी भूमिका को बढ़ावा देना,गरीबी कम करना,बराबरी का मौका प्रदान करना ,उचित पुनसुधार के साथ उन्हें सहायता देना चाहिए .

डॉ राजेश ने बताया की संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में दिए गए एक अनुमान के अनुसार विश्व आबादी का करीब 15%, यानि एक अरब से अधिक लोग किसी ना किसी प्रकार की दिव्यांगता से पीड़ित हैं, जिनमें से 80% विकासशील देशों में रहते है.

कार्यक्रम में सम्मानित होते हुए पूजा राज

कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वालित कर एवं दिव्यांग बच्चों के द्वारा केक काट कर लोक अभियोजक अरुण कुमार सिंह,डीसीएलआर पूपरी,ललित कुमार, आरोग्या के अध्यक्ष डॉ एस के वर्मा, कार्यक्रम समनव्यक, बिहार शिक्षा परियोजना, श्री नारायण सिंह,डॉ आलोक कुमार, डॉ विजय सराफ, अमित प्रकाश गोल्डी,शिवेश व्रहमर्शि एवं आरोग्या के सचिव डॉ राजेश के द्वारा किया गया, साथ ही बच्चों के बिच गिफ्ट, चॉकलेट ,मिठाईयाँ भी बांटी गयी. दो दर्जन दिव्यांगों को कम्बल भी संस्था द्वारा प्रदान किया गया.