सत्यमेव जयते का प्ले कार्ड और काली पट्टी बांधकर कॉंग्रेस कार्यकर्ताओं का केंद्र की मोदी सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाजी

नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पूछताछ के लिए कॉंग्रेस नेता राहुल गांधी को नोटिस देकर बुलाने से नाराज़ सीतामढ़ी जिला कॉंग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष मो. शम्स शाहनवाज के नेतृत्व में गांधी चौक स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष सत्याग्रह प्रदर्शन किया. गांधी टोपी पहने कॉंग्रेस कार्यकर्ता हाथों में सत्यमेव जयते का प्ले कार्ड और काली पट्टी बांधकर केंद्र की मोदी सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाजी कर रहे थे.

advt

इस अवसर पर प्रदेश युवा कॉंग्रेस प्रवक्ता सह सीतामढ़ी जिलाध्यक्ष शम्स शाहनवाज ने कहा कि देश के नेता राहुल गांधी 135 करोड़ भारतीयों की आवाज हैं और उन्हें ईडी के नोटिस का भय दिखाकर चुप नहीं कराया जा सकता. महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, आर्थिक बदहाली, महिला उत्पीड़न, सरकारी अराजकता, किसानों की समस्याओं के मुद्दे को वो बेबाकी से उठाते रहेंगे. कांग्रेस पार्टी भाजपा- आरएसएस के हथकंडों से न कल डरी थी और न कभी डरेगी.

शम्स ने कहा कि 1937 में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान नेशनल हेराल्ड अखबार स्वतंत्रता सेनानियों की आवाज थी, उसी अखबार को जिंदा रखने के लिए यंग इंडियन के नाम से एक गैर-लाभकारी कंपनी को नेशनल हेराल्ड व एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के शेयर दिए गए, ताकि 90 करोड़ का कर्ज खत्म हो सके.

इस 90 करोड़ में से 67 करोड़ कर्मचारियों की तनख्वाह व वीआरएस के लिए दिया गया तथा बाकी सरकार का बकाया, बिजली के बिल तथा भवन के लिए भुगतान हुआ. यह अपराध कैसे हो सकता है. यह तो कर्तव्य का बोध है. कॉंग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार की तरह देश की संपत्ति अपने उद्योगपति मित्रों को नहीं बेच डाली.

रदर्शन में जिला कॉंग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा, युवा कॉंग्रेस जिला उपाध्यक्ष राहुल रमेश गुप्ता, सचिव दिलीप चौधरी, मुश्ताक सरवर, दिलकश खान, तकी हैदर, बाबु नंदन राय, पप्पू यादव, शब्बीर अंसारी, अरुण कुमार वर्मा, मो. हसनैन, राजीव कुशवाहा, संजय सिंह आदि मुख्य रूप से मौजूद थे.