सदर अस्पताल में चला अभियान, 6 लोगों को देना पड़ा जुर्माना

सीतामढ़ी : सदर अस्पताल में तम्बाकू उत्पादों के सेवन करने वाले लोगों के खिलाफ तम्बाकू नियंत्रण कोषांग द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है। सदर अस्पताल के आस- पास तंबाकू उत्पादों को बेचने व खाने वालों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के जिला गैर-संचारी रोग पदाधिकारी डॉ.सुनील कुमार सिन्हा के नेतृत्व में कोटपा कानून के तहत छापेमारी अभियान चलाया गया।

गुरुवार को सदर अस्पताल परिसर एवं आस-पास में तंबाकू का इस्तेमाल करने वालों का चालान काटा गया। जिसके तहत 6 लोगों को जुर्माना भरना पड़ा। साथ ही उनके पास से तम्बाकू सम्बंधित सामग्री को जब्त कर लिया गया।

तंबाकू सेवन से मुंह के कैंसर की संभावना-

एनसीडीओ डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने बताया तंबाकू का किसी भी तरह से सेवन कैंसर का कारक बन रहा है। इसमें भी पान मसाले के साथ तंबाकू मिलाकर सेवन करना, खैनी खाने से मुंह के कैंसर के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। यह युवाओं में भी देखने को मिल रहा है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारत सरकार द्वारा प्रकाशित गैट्स 2 के सर्वे में बिहार में तम्बाकू सेवन करने वालों में कमी आने की बात है, यह आंकड़ा पिछले 7-8 साल में 53.5% से घट कर 25.9% हो गया है। जिसमें चबाने वाले तम्बाकू सेवन करने वालों का प्रतिशत 23.5% है।

तंबाकू चबाने वाले कोरोना वायरस से रहें सतर्क –
एनसीडीओ डॉ. सिन्हा के मुताबिक तंबाकू चबाने वालों को गंभीर रोग जैसे- कैंसर, फेफड़े की गंभीर बीमारी और मधुमेह से ग्रसित होने की संभावना सबसे अधिक रहती है। ऐसे में कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद तंबाकू चबाने वालों में गंभीर श्वसन संक्रमण रोग होने की संभावना रहती है।