सीतामढ़ी में घंटों बिजली रहती है गुल,130 की जगह मात्र 85 मेगावाट की आपूर्ति

एडमिन डेस्क : एक तो भीषण गर्मी ऊपर से असामान्य रूप से हो रहा है पावर कट लोगों की बढ़ रही है परेशानियां. लोगों की माने तो परमानंदपुर पावर ग्रिड के उद्घाटन के बाद से पावर कट की समस्या और भी बढ़ गई है. बिजली गुल हो जाने के बाद भीषण गर्मी में लोग कुछ ही देर बाद पसीने से लथपथ हो जा रहे हैं अचानक काफी लंबे समय तक बिजली गुल रहने के कारण सभी उम्र के लोग परेशान हैं.

विभाग की मानें तो जिले में दिन में 100 मेगावाट बिजली की जरूरत है. जबकि रात में लोड बढ़ने के कारण 130 मेगा वाट की जरूरत पड़ती है. फिलहाल रात में पिछले कई दिनों से पावर ग्रिड परमानंदपुर से 50 मेगा वाट से 100 मेगा वाट के बीच विद्युत की आपूर्ति हो पा रही है जिसके कारण सभी फीडर में रोटेशन के आधार पर विद्युत आपूर्ति की जा रही है.

जानकार लोगों का कहना है कि पावर ग्रिड के उद्घाटन के वक्त कहां गया था कि उक्त पावर ग्रिड से जिले के साथ-साथ उत्तर बिहार के दूसरे जिलों में भी बिजली आपूर्ति देने की क्षमता रखता है. ऐसे में सिर्फ जिले में विद्युत आपूर्ति देने पावर ग्रिड परमानंदपुर की असफलता को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह के विचार व्यक्त किए जा रहे हैं.